Skip to main content

Posts

Showing posts from May, 2020

जन आधार कार्ड की पूरी जानकारी ! Jan aadhar card

Jan Aadhar card क्या है
जन-आधार योजना की परिकल्पना और घोषणा बजट 2019-20 में राजस्थान के माननीय मुख्यमंत्री द्वारा राज्य के निवासियों के लिए “एक नंबर, एक कार्ड, एक पहचान” के उद्देश्य से की गई थी।


राजस्थान, देश का सबसे बड़ा भौगोलिक राज्य होने के नाते, दूर दराज के क्षेत्रों में रहने वाले निवासियों को सरकारी सेवाएं प्रदान करने में अपनी विशिष्ट चुनौतियाँ हैं।

इसलिए फिजिकल डिलीवरी के झंझटों को दूर करने के लिए सर्विस डिलीवरी के एक मजबूत इलेक्ट्रॉनिक मोड की जरूरत थी ताकि पारदर्शी और रिसाव प्रूफ तरीके से निवासियों के लिए जन-कल्याण के लाभों को डोर-स्टेप पर पहुंचाया जा सके

जन आधार कार्ड के फायदे
जन-आधार योजना इस उद्देश्य को पूरा करती है और सरकार के कई चैनलों को एक-कार्ड, एकल-संख्या, एकल-पहचान दर्शन के साथ राज्य के पूरे सेवा वितरण पारिस्थितिकी तंत्र को एकीकृत करती है ताकि निवासियों तक केवल एक ही पहुंच सके।


जन-आधार संख्या का लक्ष्य एक परिवार का एकल पहचानकर्ता होना और एक व्यक्ति भी है। यह एकमात्र वाहन है जिस पर सभी प्रकार की नकदी के साथ-साथ गैर-नकद लाभ और सेवाओं की सवारी होती है और ई-मित्रा कियोस्क के एक…

सूर्य देव के पिता का क्या नाम है ! Surya dev's father name

विज्ञान भी कहता है कि सूर्य के बिना जीवन संभव नहीं। सूर्य देव को जगत की आत्मा कहा गया है। सूर्य से ही प्रथ्वी पर जीवन है और इस कारण भारत में वैदिक काल से ही सूर्य पूजा का पर्चलन रहा है। वेदों में कई स्थानों पर सूर्य देव की स्तुति की गई है। 



सूर्य देव की उत्पति कैसे हुई
:-
ब्रह्मा जी के मुख से सबसे पहले 'ऊँ' प्रकट हुआ था, वही सूर्य का शुरुवाती सूक्ष्म स्वरूप था 'ऊँ' के बाद भूः भुव तथा स्व शब्द उत्पन्न हुए। ये तीनों शब्द पिंड रूप में 'ऊँ' में लीन होने के बाद सूर्य को स्थूल रूप मिला। सृष्टि में सबसे पहले उत्पन्न होने से सूर्य का नाम आदित्य पड़ा।




सूर्य देव के पिता का क्या नाम था
:- 
सूर्य देव के पिता का नाम महर्षि कश्यप था 

सूर्य देव माता का नाम क्या था :- 
सूर्य देव की माता का नाम अदिति था 

सूर्य देव की जन्म कथा :- 
सूर्य देव के जन्म की एक कथा भी काफी प्रचलित है। इस कथा के अनुसार ब्रह्मा जी के पुत्र मरिचि हुए और मरिचि के पुत्र महर्षि कश्यप थे। महर्षि कश्यप का विवाह प्रजापति दक्ष की पुत्री दीति और अदिति से हुआ। दीति से दैत्य पैदा हुए और अदिति ने देवता पैदा हुए, दोनों आपस म…

Carryminaty की you tube vs tik tok विडियो हुई delete

Carryminaty की you tube vs tik tok विडियो हुई delete

नमस्कार दोस्तो you tube के जाने माने rostercarryminaty की you tube vs tok tok the and video यूं ट्यूब ने teckdown कर दी है 


आपको बता दे you tube vs tik tok the and विडियो में carryminaty ने tik tok star Amir siddiki के उपर rost किया था

 ये विडियो हुई थी viral
आपको बतादे की carryminaty की you tube vs tik tok the and विडियो भयंकर वायरल हुई थी 
इस विडियो ने मात्र 3 घंटे में 3 मिलियन लाईक लेने वाली india की पहली विडियो बनी थी

You tube vs tik tok the and विडियो क्यो हुई डिलीट :-
Carryminaty की you tube vs tik tok the and विडियो क्यो हुई delete इसके कारणों का पता अभी तक नहीं चला है 

कृष्ण की मौत कैसे हुई ! Krishna ki mout kaise hui

श्री कृष्ण की मौत कैसे हुई कब हुई और कहा हुए आज के ईस पोस्ट में हम आपके इन्हीं सवालों के जवाब देंगे

श्री कृष्ण की मौत :- 
श्री कृष्ण की मौत को समझने से पहले हमे त्रेता युग में जाना जरूरी है ओर त्रेता युग की उस कथा को जानना जरूरी है जिसका सीधा संबंध श्री कृष्ण की मृत्यु से है 

कौनसी कथा है ? चलिए आपको बता देते है
जब श्री राम को वनवास हो गया था और सीता का हरण हो गया था तो सिता की खोज में श्री राम ऋषिमुक पर्वत पर रहने वाले सुग्रीव से मित्रता करने के बाद श्री राम ने बाली को छुपकर के मारा था 

जब बाली का आखिर वक्त होता है उस वक्त श्री राम उन्हें वरदान देने के लिए कहते है 

बाली ने एक वरदान मांगा कि प्रभु जिस तरह आपने मेरे प्राण लिए है उसी तरह में आपके प्राण लू क्योंकि मेरी रण लालसा पूरी नहीं हुई 
तब श्री राम ने बाली से कहा कि बाली द्वापर युग में तुम्हारा ये वरदान पूर्ण हो जाएगा 



द्वापर युग :-

जब श्री कृष्ण महाभारत युद्ध के 36 साल बाद प्रभाष नदी के किनारे तीर्थ के लिए गए तब वो नदी में स्नान करने के बाद एक पेड़ के नीचे आराम करने लगे

तभी वहा एक जिरू नाम का शिकार आ गया जीरू को लगा कि पेड़ के नीचे कोई हिरण…

पंजाब में भारतीय वायुसेना का प्लेन हुआ क्रेश ! Indian aitleforce

नई दिल्ली: भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) का लड़ाकू विमान मिग-29 (MiG-29) क्रैशहो गया है. घटना पंजाब के होशियारपुर जिले के पार हुई है. वायुसेनाके एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी एएनआई को बताया कि पायलट विमान से सुरक्षितबाहर निकलने में कामयाब रहा.


जानकारी के मुताबिक विमानमें तकनीकी गड़बड़ीके कारण यह हादसा हुआ है. मामले की जांच करनेके आदेश दे दिए गए हैं.

महाराष्ट्र में रेल हादसा ! 16 की मौत ! Maharastra train acsident

महाराष्ट्र के औरंगाबाद केपास रेलवेट्रैक पर16 प्रवासी मजदूरोंकी मालगाड़ी की चपेटमें आने से मौत हो गई।सभी मजदूरमध्यप्रदेश जा रहे थे। हादसाऔरंगाबाद में करमाड स्टेशन के पासहुआ। घटना उस वक्तहुई, जब मजदूर रेलवे ट्रैक पर सो रहे थे। 5 घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी घटना पर दुख जताया है। मध्य प्रदेशऔर महाराष्ट्र सरकार नेमृतकों के परिजन को 5-5 लाख रु. की सहायता देने का ऐलान किया है।

हादसे के बाद स्थानीय लोगमदद के लिए आ गए।
रेल मंत्रालय ने बताया किघटना बदनापुर और करनाड स्टेशन के बीच की है। यह इलाकारेलवे के परभणी-मनमाड़ सेक्शन में आता है।शुक्रवारतड़के मजदूर रेलवे ट्रैक पर सो रहे थे। मालगाड़ी के ड्राइवर ने उन्हें देखलिया था, बचाने की कोशिश भी की, पर हादसा हो गया। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।



ट्रेन पकड़ने की आस में निकले थेमजदूर
मजदूर जालना की एसआरजेस्टीलफैक्ट्री में काम करते थे। औरंगाबाद से गुरुवार को मध्यप्रदेशके कुछ जिलों केलिए ट्रेनरवाना हुई थी। इसी वजह से जालना से ये मजदूर औरंगाबाद के लिए रवानाहुए। रेलवे ट्रैकके बगल में 40 किमी चलने के बाद वे करमाड के…

जब यमराज की भी मौत हो गई थी ! Yamraaj !

हिन्दू धर्म में यमराज को मृत्यु का देवता हैं माना जाता हैं। 

यमराज के माता पिता का नाम :-
यमराज के पिता का नाम भगवान सूर्य है और माता का नाम संज्ञा है यमराज के नाना का नाम विश्वकर्मा है यमराज की बहन का नाम यमुना है 

यमराज की जन्म कथा :-
जब संज्ञा की शादी सूर्य देव से हुई तो संज्ञा ने भय के वसीभूत होकर आंखे बंद कर ली उनके ईस व्यवहार के कारण सूर्य देव क्रोधित हो गए और संज्ञा को श्राप दिया कि तुम्हारा पुत्र लोगो का प्राण हरने वाला होगा और तुम्हारी पुत्री चंचल स्वभाव के कारण नदी के रूप में बहती रहेगी 

कुछ दिनों बाद संज्ञा के दो जुड़वा बच्चे हुए जिनमे एक यम ओर दूसरी यमी जिन्हें कालांतर में यमुना के नाम से जाना जाने लगा

हिंदू धर्म के मानने वालों का विश्वास है कि मरने के बाद इंसान कि आत्मा यमराज के पास जाती हैं और यमराज ही उनके कर्मों के अनुसार उनको स्वर्ग और नरक में स्थान देते है ओर वो धर्म के साथ करते है इसलिए उन्हें धर्मराज भी कहा जाता हैं 

क्या यमराज की भी मौत हुई थी :
अब प्रश्न ये उठता है कि क्या यमराज की भी मौत हुई थी तो उसका उत्तर एक पौराणिक कथा में छुपा है 

कथा क्या है ? वो भी आपको बता देते…

नोरा फतेही बायोग्राफी ! Nora fatehi biography in hindi

नोरा फतेही का जन्म 
नोरा फतेही का जन्म 6 फरवरी 1992 को कनाडा में हुआ 
नोरा फतेही कनाडा में ही पली बढ़ी हुई और अब वो हिंदी तेलगु फिल्मों में अपनी एक छाप छोड़े हुए हैं 





नोरा फतेही का फिल्मी करियर
नोरा फतेही ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत ROR-Tigers of the sundarbans हिंदी फिल्म से की




नोरा फतेही की हिंदी फिल्में :- 
रोर टाइगर्स ऑफ द सुंदरबनस , सत्यमेव जयते, स्ट्रीट डांसर 3D आदि है 




नोरा फतेही की तेलगु फिल्में :- 
बाहुबली , टेंपर , किक 2 , डबल बैरल , लोफर , शेर आदि है 




तो दोस्तो ये पोस्ट कैसी लगी जरूर बताना और भी पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग को फॉलो करें 

ये भी पढ़ें 👇

Amitbh Bachchan Biography

Ritesh Deshmukh Biography

Genelia D'Souza Biography

Ankita Dave

Genelia d'souza biography movies songs birthday kids

जेनेलिया डिसुजा का जन्म जेनिलिया डिसुजा का जन्म 5 अगस्त 1987 को नीलू डिसुजा और जीनेट डिसुजा के घर में हुआ उनका एक भाई भी है जिनका नाम  नाईजल डिसुजा है 

जेनेलिया डिसूजा की पढ़ाई :- जेनेलिया डिसूज़ा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई अपोस्टोलिक कारमेल हाई स्कूल, बांद्रा से की और फिर मैनेजमेंट शिक्षा में उपाधि के लिए सेंट ऐंड्रूज़ कॉलेज में एडमिशन लिया। 


जेनेलिया डिसूजा अपनी डिग्री तुझे मेरी कसम फिल्म में कार्य करते वक्त प्राप्त् की और उसके बाद इनका विचार किसी बहुराष्ट्रीय कंपनी में कार्य करने का था। जेनेलिया डिसुजा को खेल और पढ़ाई में बहुत ज्यादा रुचि थी आपको बता दें कि जेनेलिया एक राज्य स्तरीय एथलीट व राष्ट्रीय स्तर की फुटबॉल खिलाड़ी रही हैं।


जेनेलिया डिसुजा की एक्टिंग की शुरुवात जेनेलिया डिसूजा ने कई तेलगु, हिन्दी, तमिल, कन्नड़ व मलयालम फ़िल्मों में अभिनय किया है। उन्हें पहली प्रसिद्धि पार्कर पेन के विज्ञापन में अमिताभ बच्चन के साथ अभिनय  से मिली जेनेलिया डिसूजा की पहली फिल्म तुझे मेरी कसम (2003) है। उसके बाद जेनेलिया को फ़िल्म बॉयज़ में दमदार अभिनय के कारण उन्हें प्रसिद्धि हासिल हुई और उन्होंने तेलगु स…

Ritesh Deshmukh biography movies songs birthday

रितेश देशमुख की जीवनी

रितेश देशमुख का जन्म
रितेश देशमुख का जन्म 17 दिसंबर 1978 को विलास राव देशमुख के यहाँ हुआ था। रितेश देशमुख ने हमेशा अपने व्यावहारिक स्वभाव से अपने प्रशंसकों को अपना प्रिय बनाया है।



रितेश देशमुख की पढ़ाई
रितेश देशमुख ने आर्किटेक्चर पर्यावरण अध्ययन के लिए कमला रहेजा विद्यानिधि इंस्टीट्यूट से अपनी वास्तुकला की डिग्री पूरी की और फिर एक साल तक एक विदेशी वास्तु फर्म में रहे। रितेश देशमुख ने न्यूयॉर्क के प्रसिद्ध ली स्ट्रैसबर्ग थिएटर स्कूल से स्नातक की उपाधि हासिल की थी।




रीतेश देशमुख की शादी
रितेश देशमुख आठ साल तक भारतीय फिल्म अभिनेत्री जेनेलिया डिसूजा के साथ रहे। रितेश और जेनेलिया ने 3 फरवरी 2012 को चर्च विवाह और मराठी परंपराओं से विवाह किया।





रितेश देशमुख का फिल्मी करियर
रितेश ने वर्ष 2003 में फिल्म “तू मेरी कसम” से अपने फिल्म कैरियर की शुरुआत की थी, जो एक बहुत ध्यान देने योग्य फिल्म नहीं थी। हालाँकि वर्ष 2004 में उनकी एक और फिल्म “मस्ती” रिलीज हुई, जो बॉक्स ऑफिस पर काफी सफल रही थी। उसके बाद रितेश ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और बहुत ही कम समय में सफलता हासिल करते चले गए।


वर्तमा…

Amitabh bachchan biography songs movie birthday films सभी जानकारी

जिसको सदी का महानायक की संज्ञा दी जो हर भारतीय के दिलो पर राज करते हैं आज में आपको सदी के सबसे बड़े महानायक श्री अमिताभ बच्चन ( Amitabh Bachchan) की जीवन से जुड़ी महत्पूर्ण जानकारी आपको बताएंगे तो चलिए शुरू करते हैं 


अमिताभ बच्चन का जन्म कहां हुआ
उनका जन्म उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले में हरिवंश राय बच्चन और तेजी बच्चन के घर हुआ।
उनके पूर्वज उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले के गांव बाबूपट्टी से थे।
उनकी माँ तेजी बच्चन पाकिस्तान के ल्यालपुर (फैसलाबाद) के एक सिख समुदाय से थीं।
उनके पिता हरिवंश राय बच्चन एक प्रसिद्ध हिंदी कवि थे।



प्रारंभ में उनका नाम इंक़लाब रखा गया था लेकिन राष्ट्रीय कवि सुमित्रानंदन पंत (हरिवंश राय बच्चन के साथी कवि) के सुझाव के बाद उनका नाम अमिताभ रखा गया। अमिताभ नाम का अर्थ है ” वह प्रकाश जो कभी ना ढले।”




अमिताभ बच्चन {amitabh bachchan} का असली नाम
अमिताभ बच्चन {Amitabh bachchan} का असली उपनाम श्रीवास्तव था, उनके पिता ने श्रीवास्तव से बच्चन रखा।
अमिताभ बच्चन की माँ थिएटर में बहुत दिलचस्पी रखती थीं और उन्होंने एक फीचर फिल्म में भी भूमिका अदा की थी, जिसके बाद उन्हें फिल्मों में का…