Wednesday, 25 March 2020

New deadly 'Hanta' virus arrives in China amid Corona, one dead

China has not even been able to get out of the grip of Corona virus completely that there are reports of a new virus outbreak. According to the Chinese government media institute Global Times, a new virus has spread in the province of Greece of China. One person has died due to this. Its name is Hantavirus.

According to the Global Times, the person suffering from Lanta virus was returning from the bus to Shandong province. Then the virus was detected during the investigation of Corona. There were a total of 32 people on this bus. All passengers were investigated. Ever since China shared this information. There has been an uproar on social media since then

According to the US Center for Disease and Control, the Huta virus is found in the feces, urine, and sputum of mice. This infects humans when rats release it into the air. Hantavirus enters the body through the breath

Sunday, 22 March 2020

Corona virus: The body needs these 3 vitamins to increase immunity

The number of corona virus patients is increasing rapidly in India. So far 333 cases have been reported. While more than two lakh people have fallen victim to it all over the world. Health experts say that people of weak immunity fall prey to this virus. According to diet and health expert Julia Jumpano, three types of vitamins can boost human's immune system. If this happens, every kind of disease will remain away from your body.

vitamin C- Health experts consider vitamin C a good source of the immune system. Lack of vitamin C in the body means feasting on many diseases. For vitamin C, it is important to include some things in the diet.

A large amount of vitamin C is found in orange, seasonality, kinnu, strawberry, capsicum, spinach and broccoli. You must include these things in your daily diet. A lot of vitamin C is also found in dragon fruit.

It is a good thing that vitamin C is easily available to people, because there are many things which are usually found in the diet of people.


Vitamin B-6- Vitamin B6 has also been said to be necessary to improve the body immune system. Several types of biochemical reactions present in vitamin B6 boost immunity. Nonvitarians have more options in their diet.

For vitamin B6, it is found in many types of meat besides chicken, egg and salmon fish. Apart from this, cold water is also considered a good source of vitamin B6.



Monday, 16 March 2020

Coronaviras की संपूर्ण जानकारी ! कैसे फैलता है ! कितने मरीज कहा कहां पाए गए हैं

Corona viras kaise failta ha
Coronaviras

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे Coronaviras के बारे में की भारत में ये coronaviras किस स्पीड से बढ़ रहा है और सरकार कोरोनावायरस के खिलाफ कितनी सख्त दिखाई दे रही है और कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए कोन कोन से कदम सरकार उठा रही हैं 


Coronaviras kaise faila [ कोरोनावायरस कैसे फैला ] 


Coronavairas की शुरुवात चीन के वुहान शहर से हुई वहा के कुछ मजदूर अचानक से बीमार पड़ने लगे वहा के एक मेडिकल के साइंटिस्ट ने जब उनकी बीमारी का सैंपल लेके आकलन किया तो पाया गया इन सभी मरीजों में एक वायरस कि समानता है जो कि हर मरीज के दिमाग के अंदर पाया गया है 

फिर उस viras की जांच शुरू हुई और ओर वहा के हाल ही में अचानक मरे हुए जीवो की जांच हुई पता चला कि ऐसा ही वायरस चमगादड़ों में भी था और उनकी मौत का कारण था फिर इस वायरस की उच्च कोटि की जांच में पता चला कि ये कोरोना वायरस है 

मगर चीन अंतरराष्टरीय क्षेत्र में इस बात को फैलाना नहीं चाहता था वह अपनी बदनामी से डर और अन्तर्राष्ट्रीय व्यापार के कमी ना आ जाए इसलिए इस बात को छुपा लिया और कोरोना वायरस धीरे धीरे आधे वुहान शहर में फेल गया 

तब जिस साइंटिस्ट ने coronaviras की जांच की थी उससे रहा नहीं गया और वो दुनिया को इस अनजान खतरे से आगाह करने के लिए पूरी दुनिया को इसकी जानकारी दी

चीन ने इससे नाराज होकर उस साइंटिस्ट को बर्खास्त कर दिया धीरे धीरे य कोरोना वायरस पूरे बूहान शहर और कुछ मामलों में अन्य देशों में भी फ़ैल गया 


Coronaviras kaise failta ha [ कोरोनावायरस कैसे फैलता है ] :- coronaviras किसी व्यक्ति को है और वह ख़ास रहा है या छींक रहा है तो उसके खांसने और छींक की साथ corona viras के कुछ सूक्ष्म कण बाहर आ जाते है फिर अगर उनको अगर कोई दूसरा व्यक्ति छू लेता है तो कोरोनावायरस उस व्यक्ति के हाथो पर आ जाता हैं फिर अगर वो व्यक्ति उन हाथो को बिना धोए अपने आंख नाक या मुंह पर लगा लेता है तो यह वायरस उसके शरीर में प्रवेश कर जाता हैं 



Corona viras se kaise bache [ कोरोना वायरस से कैसे बचें ] 

दोस्तो हर एक बीमारी की सबसे बड़ी दवाई है सफाई ! और यह बात कोरोनावायरस पर भी लागू होती है ।
कोरोना वायरस से घबराने कि या फिर डरने की जरूरत नहीं है बस ध्यान रखने की जरूरत है corona viras से बचने के लिए आपको अपने हाथो को बार बार धोते रहना चाहिए ! अपने हाथो को अपने चेहरे पर बिना धोए नही लगाना चाहिए ! अगर कोई व्यक्ति corona vairas से ग्रसित है तो उससे दूरी बनाए रखे उसके कमरे के किसी भी स्थान को ना छुए , क्योंकि ये हवा में नहीं फैलता बल्कि छूने से फैलता है ,


Corona viras in india [ भारत में कोरोना वायरस ] :-

 दोस्तो ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार इंडिया में कोरोना वायरस के 114 मामले सामने आ चुके है जिनमे कुछ ठीक हो गए हैं और बाकियों का इलाज चल रहा है भारतीय सरकार इसके लिए अपनी कमर पहले से ही कस चुकी हैं 

और इससे निपटने के लिए तैयार है मगर corona viras से बचने के लिए सबसे बड़ी बात यही है की इसका ध्यान रखे सफाई का पूरा ध्यान रखे 


Corona viras in China [ चीन में कोरोना वायरस ] :- 

ताजा रिपोर्ट के अनुसार चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या लगभग 5000 के करीब पहुंच गई है और इससे ग्रसित लोगों की संख्या लगभग 90000 के करीब पहुंच गई हैं corona viras का सबसे ज्यादा असर चीन के वुहान शहर में हुआ है चीन के वुहान शहर में लगभग 60 हजार से ज्यादा लोग ग्रसित है ओर 4000 से ज्यादा लोगो की मौत हो गई है 



Corona viras in  Japan [ जापान में कोरोना वायरस ] :-

दोस्तो आपको बता दे की जापान में भी कोरोना वायरस का काफी असर हुआ है हजारों की संख्या में जापान में corona viras से लोग ग्रसित है ओर 200 की मौत भी हो चुकी हैं हालांकि जापान ने कोरोनावायरस से बचने के बहुत से अच्छे कदम उठाए हैं मगर अभी तक वो कदम ना काफी साबित हुए हैं 


Corona viras in Iran [ ईरान में कोरोना वायरस ] :-

चीन के बाद कोरोनावायरस से अगर सबसे ज्यादा मौत कहीं हुई है तो वो है ईरान ! जी हां दोस्तो ईरान में corona viras से मरने वालों की संख्या लगभग 900 के करीब पहुंच गई हैं हालाकि भारत ने भी ईरान की मदद करने की पेशकश की है मगर बढ़ती मौतों को रोक नहीं पाए हैं 


Corona viras in italy [ इटली में कोरोना वायरस ]

 कोरोना वायरस के पॉजिटिव इटली में भी पाए गए हैं और वहा भी कुछ लोगो की मौत हो चुकी हैं 


Corona viras in Rajsthan [ राजस्थान में कोरोना वायरस ]

 राजस्थान में कोरोना वायरस के 4 पॉजिटिव पाए गए हैं जिनमें 2 राजस्थान के मूल निवासी हैं और दो विदेशी नागरिक है जिनका इलाज चल रहा है राजस्थान सरकार इस मामले में एतिहात बरतते हुए लोगों को आगाह कर दिया है कि वो किसी भिड़ भिड़ वाले स्थान में कम जाए एंव सावधानी बरतें !


Corona viras in delhi [ दिल्ली में कोरोना वायरस ]

 दिल्ली में कोरोनावायरस से ग्रसित 7 लोग पाए गए हैं जो सभी दिल्ली के मूल निवासी हैं जिनमें से एक कि मौत हो चुकी हैं 2 को डिस्चार्ज कर दिया गया है और बाकियों का इलाज चल रहा है


Corona viras in hariyana [ हरियाणा में कोरोनावायरस ] :-

  हरियाणा में कोरोना वायरस से ग्रसित 14 लोग पाए गए हैं जो सभी के सभी विदेशी नागरिक है उनका इलाज चल रहा है 


Corona viras in telengana [ तेलंगाना में कोरोना वायरस ]

 तेलंगाना में कोरोना वायरस से ग्रसित 3 लोग पाए गए हैं जिनमें 1 को छुट्टी दे दी गई है 2 का इलाज चल रहा है



 Corona viras in kerala [ केरल में कोरोना वायरस ]

 केरल में कोरोना वायरस से ग्रसित 22 लोग पाए गए हैं जो सभी के सभी केरल के मूल निवासी हैं जिनमें 3 को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है बाकियों का इलाज चल रहा है


Corona viras in Utter Pradesh UP [ उत्तर प्रदेश यू पी में कोरोना वायरस ] :-

 उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस से ग्रसित 11 लोग पाए गए हैं जिनमें 1 विदेशी नागरिक भी है सभी का इलाज चल रहा है 


Corona viras in maharashtra [ महाराष्ट्र में कोरोनावायरस ]

 महाराष्ट्र में भारत के सबसे ज्यादा कोरोनावायरस से ग्रसित लोग है यहां 33 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं उन सभी का इलाज चल रहा है 


Corona viras in panjab [ पंजाब में कोरोना वायरस ] :-

 पंजाब में कोरोनावायरस पॉजिटिव एक मरीज़ पाया गया है जिसका इलाज चल रहा है


Corona viras in karnataka [ कर्नाटक में कोरोना वायरस ] :-

 कर्नाटक में कोरोना वायरस पॉजिटिव 6 मरीज पाए गए हैं जिनमें से एक का इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है बाकी का इलाज चल रहा है

इसी तरह कोरोना वायरस से ग्रसित जम्मू कश्मीर में 2 , पंजाब में 1 , आंध्र प्रदेश में 1 , तमिलनाडु में 1 , लदाख में 3 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं जिनमे सभी का इलाज चल रहा है 

 दोस्तो आशा करते हैं कि इस पोस्ट में आपको कोरोना वायरस से सम्बन्धित सभी जानकारी मिल गई होगी अगर ऐसी ही जानकारियों के पोस्ट पढ़ना चाहते है तो हमारे ब्लॉग को फॉलो करें नीचे कॉमेंट करके अपनी राय जरुर दे और अपना और अपने परिवार का ध्यान रखें पोस्ट पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद मिलते है और किसी पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार
How people are dealing with Coronavirus Quarantine life

ये भी पढ़ें - क्लिक कीजिए



  




Sunday, 15 March 2020

History of Lohagarh Fort and full visit information In English iron fort

Lohagarh fort : bharatpur fort : iron fort

History of Lohagarh iron Fort and full visit information In English
History of Lohagarh Fort and full visit information In English

Lohagarh fort is a major fort in the city of Bharatpur in Rajasthan which is named as strong metal iron, as this fort is one of the strongest forts of all time. If history is to be believed, this fort has been attacked many times, but this fort still stands up to date. Neither the Mughals nor the British had the power to break the wall of this fort. This fort complex contains many structures, most of which have been built as a symbol of victory.


The fort has an interesting museum which is part of its major monuments, which has much to please those interested in history. The Lohagad fort was originally constructed in 1730 by Maharaja Suraj Mal who used all his wealth and powers for a good purpose. If you want to know about other information of Lohagad Fort like history, architecture, museum, how to reach and good time to go, then this article will give you complete information.



Who Bulit The Lohagarh Fort Bharatpur In English

In 1730 Lohagarh Fort was built by Maharaja Suraj Mal.




History Of Lohagarh Fort Bharatpur In English

Lohagarh Fort is situated on an artificial island in the city center of the city of Bharatpur in Rajasthan, which is a major center of attraction in the entire city. Due to the charm and grandeur of this fort, a large number of tourists come to see this fort. The construction of Lohagad Fort started in the year 1732 by Raja Suraj Mal, which took about 60 years to build. In the year 1805, British forces led by Lord Lake invaded again and again and the army was under siege for six weeks. The Lohagad fort was attacked in 1805 on 9 and 21 January and on 20 and 21 February, killing about 3203 officers and men who were under the British Army.



The most durable point of the Lohagarh fort is its mud-built outer walls which absorbed all the firing without any trouble which was carried out by the Mughal and British forces. The fort walls are about 7 kilometers long and it took eight years to complete it. It is also believed that the Lohagad fort was probably inspired by the Mahi Durg or the earthen fort about which it was described in ancient Sanskrit texts. Unfortunately in 1826 the walls of the fort were broken by the British Army,When it was captured. The inner walls of this fort still remain.



Architecture Of Lohagarh Fort Bharatpur In English

 There are two gates inside this fort, one of which is in the north and is known as Ashtadhatu or eight-metal gate. This gateway with round bastions and paintings of war elephants gives evidence of its history. There is also an exciting story attached to this gate according to which this gate was initially the gate of the Chittorgarh Fort.



When Sultan Alauddin Khilji looted the Rajput city at the end of the 13th century, he took this gate to Delhi. When the Jats attacked Delhi in 1764, it was taken out of Delhi and they brought it back to Bharatpur. The south facing gate of the fort is called Chaubarja or four-pillared gate. It is also made in the same way. The sandstone court located here, or the Maharaja's meeting hall, fascinates tourists with its finely carved walls, columns and arches.




Fort Palaces At Lohagarh Fort Bharatpur In English

There are three palaces in the Lohagarh Fort which include the names of Mahal Khas, Kamra Mahal and Badan Singh's Palace. This fort structure also includes other monuments such as Kishori Mahal, Mahal Khas and Kothi Khas. Along with this, towers like Jawahar Burj and Fateh Burj are also located here. These towers were built to commemorate the Jat victory over the Mughals and the British army.

The palace Khas was built by Suraj Mal, one of the three palaces built by Jats in the fort during 1730 and 1850. This palace special also has a curved roof and balcony which is made of magnificent carvings and features the Jat style.




Lohagarh Fort Museum In English

Kamra Palace is a special place of the fort which was used to store all the armor and treasures of the fort but now it has been converted into a government museum. The museum has Jain sculptures, carvings of a Yaksha, collection of weapons, and several manuscripts written in Arabic and Sanskrit . The palace has small chambers and ornate stone windows, with beautiful patterned marble floors. Other exhibitions of this museum also have a beautiful carving in the form of Nataraja and red sandstone Shivling of Lord Shiva.





Best Time To Visit Lohagarh Fort In English

If you are planning to visit Lohagad Fort in Rajasthan and want to know about the best time to visit here, then tell us that the best time to visit Lohagad Fort is from August to September.




Restaurants And Local Food near Lohagarh Fort In English

Lohagarh Fort or Fort is a major tourist destination of Bharatpur. If you have come to Bharatpur city, to see this fort or to visit other tourist places of the city and want to know about the food here, then tell that there is no specialty of food or lively food culture but In this city, you will easily find North Indian snacks along with popular Rajasthani dishes. Special food items here include onion kachori, mawa kachori, potato vegetable and names of many dishes, from which you can satisfy your hunger. Most restaurants in the city are closed by 10:30 pm so plan your dinner keeping this time in mind.


How To Reach Lohagarh Fort In English

The Lohagad Fort is located less than 2 kilometers from the city of Bharatpur. The city of Bharatpur is well connected to major cities of the state via road and rail. You can also reach Bharatpur easily from major cities of India like Delhi 200 km), Agra (60 km) and Jaipur (180 km). From all these major cities of the country, you can also catch a train to Bharatpur. Bharatpur is well connected to many cities of the state through several national highways.


How To Reach Lohagarh Fort By Flight In English

If you want to travel to Bharatpur or Lohagarh Fort by air, then direct flight connectivity is not available in this city. The nearest airport of Bharatpur is located in Agra city which is 50 kilometers away, but very few flights operate to this airport. As a prime option for going to Bharatpur, you can take a flight to Jaipur International Airport (180 km) and Delhi Airport (200 km) which can prove to be much better and cheaper than Agra.

Traval in Nepal information click here Facts about Nepal

Saturday, 14 March 2020

सूर्पनखा का असली नाम क्या था ! सूर्पनखा के पति का नाम क्या था ! Surpankha

सूर्पनखा का असली नाम क्या था [ surpankha ka asali name kya tha ]
सूर्पनखा के पति का क्या नाम था [ surpankha ke pati ka kya name tha ] 

नमस्कार दोस्तों आज के इस ब्लॉग में हम बात करेंगे कि रावण की बहन सुरपंखा या सूर्पनखा के पति का क्या नाम था और सूर्पनखा का असली नाम क्या था

दोस्तो सूर्पनखा रावण की बहन थी उसका असली नाम सूप नखा था जिसका अर्थ होता है सुंदर नाखूनों वाली 

क्योंकि सूर्पनखा इतनी सुंदर थी कि पुरुष उसके नाखूनों को देखकर ही मोहित हो जाते थे इसलिए उसका नाम सूप नखा पड़ा 


सूर्पनखा के पति का क्या नाम था :- सूर्पनखा के पति का नाम विधुतजिव्ह था जो कि कालकेय नाम के राजा का सेनापति था एक बार कालकेय ओर रावण में युद्ध हो गया और कालकेय की सेना का नेतृत्व जहा विधुतजिव्ह कर रहा था तो दूसरी ओर रावण की सेना का नेतृत्व स्वयं रावण कर रहा था

विधुतजिव्ह के सामने परिस्थिति कठिन थी क्योंकि उसका कर्तव्य बनता था कि अपने राज्य की रक्षा करे मगर ऐसा करता है तो सामने उसका खुद का शाला ही था 

सूर्पनखा ने रावण को समझाया था कि कालकेय की राजधानी पर आक्रमण मत करो मगर रावण अपने राज्य के विस्तार की लालसा में अंधा हो गया था उसने आक्रमण किया 

विधुतजिव्ह भी अपने कर्तव्य पर अडिग रहने का फैसला किया और रावण के सामने युद्ध में खड़ा हो गया 

रावण ओर विधुतजिव्ह का युद्ध हुआ और रावण ने विधुतजिव्ह को मार दिया सूर्पनखा क्योंकि विधुतजिव्ह की पत्नी थी इसलिए उसे बहुत दुख हुआ और उसने कसम खा ली कि एक रोज वह रावण के पूरे परिवार का नाश करेगी

इसलिए उसने श्री राम के पास जाकर उन्हें तंग करना आरंभ कर दिया क्योंकि उसने समझ लिया था कि रावण को श्री राम ही हरा  सकते है इसलिए उसने बैर बढ़वा दिया 
ओर सूर्पनखा के कारण ही राम ओर रावण में युद्ध हुआ
ओर अंत में जीत श्री राम की हुई 

दोस्तो आशा करते हैं कि ये पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी अगर अच्छी लगी तो इसे शेयर करें और कॉमेंट करके आप जरुर बताए ऐसे ही और पोस्ट पढ़ने के लिए हमारे ब्लॉग को फॉलो करें
अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें 

सुमाली कोन था ! Sumali kon tha


नमस्कार दोस्तों आज के इस ब्लॉग में हम बात करेंगे कि रामायण में जिस सुमाली के बारे मैं बताया गया है वो सुमाली कोन था 


सुमाली कोन था [ sumali kon tha ] 

तो दोस्तो सुमाली रावण का नाना था इनकी पुत्री कैकसी की शादी विस्वश्रवा के साथ हुई थी और कैकसी रावण कुंभकरण विभीषण ओर सूर्पनखा की माता थी 


सूमली के पिता का क्या नाम था[ sumali ke pita ka kya name tha ]  


दोस्तो सुमाली के पिता का नाम सुकेश था और वह एक राक्षस कुल से संबंध रखता था 


सूमली के पूरे परिवार का वर्णन [ Sumali ke pure parivar ka parivhya ]

राक्षस कुल में हेती और प्रेती नाम के दो राक्षस भाई थे हेती राक्षस का विवाह भया नाम की कन्या से हुआ था और ओर हेती और भया के कुछ दिनों बाद एक पुत्र ने जन्म लिया 

जिसका नाम था विधुत्केश और विधूतकेश के एक पुत्र ने जन्म लिया जिसका नाम था सुकेश 

फिर सुकेश के तीन पुत्र हुए जिनके नाम माल्यावान , सुमाली , माली था 

माल्यावान रावण की लंका में मंत्री पद पर कार्यरत थे इन्होंने रावण के कई उच्चस्तरीय सवालों को पूरा किया था ये राजनीत का अच्छा जानकर था रावण के कई अहम मुद्दों को इन्होंने हल किया था 

जब रावण ने सीता का हरण किया था तब माल्यावान ने रावण को बहुत समझाया था कि सीता को वापिस कर दो मगर रावण ने उनकी बात नहीं मानी और लंका का नाश करवाया

तो दोस्तो आशा करता हूं कि आपके सारे सवालों के जवाब मिल गए होंगे और भी इसी तरह की पौराणिक कथाओं की पोस्ट पढ़ना चाहते हैं तो हमारे ब्लॉग को ब फॉलो करें और इस पोस्ट को शेयर करें आप नीचे कॉमेंट करके हमे बताए कि ये पोस्ट कैसी लगी 
अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

Friday, 13 March 2020

Redmi Note 9 pro price in india

Redmi Note 9 pro price in india
Redmi Note 9 pro price in india

Redmi note 9 pro price in india

 Best mobile brand in 2020
Redmi का न्यू फोन redmi note 9 प्रो आ गया है तो जानते है इसकी खासियत और सबसे सस्ते दामों में कहा से खरीदे ये भी बताएंगे 


Redmi note 9 pro की खासियत 



Redmi note 9 pro ka prosesar :

Redmi note 9 pro स्मार्टफोन में स्पीड और मल्टीटास्किंग के लिए क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 720जी प्रोसेसर का इस्तेमाल हुआ है


Redmi note 9 pro ki beterry 

Redmi note 9 pro में 5020MAh की बेहद ही पावरफुल बैटरी है जो कि इंटरनेट यूजर्स के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकती हैं 


Redmi note 9 pro ki screen 

Redmi note 9 pro में 6.67 इंच की फुल HD डिस्प्ले है जिसमें गोरिला ग्लास 5 का प्रोटेक्शन दिया गया है जो की बेहद ही जबरदस्त है



Redmi note 9 pro Ka camera 

Redmi note 9 pro में 4 रियर कैमरा दिया गया है 64 + 8 + 5 + 2 मेगापिक्सल का कॉम्बिनेशन है और फ्रंट में 16 मेगापिक्सल का कैमरा दिया गया है जो की आपके चांद से मुखड़े कि जबरदस्त फोटो क्लिक करता है


Redmi note 9 pro Ki Ram 

रेडमी नोट 9 प्रो में 6 जीबी तक रैम और 128 जीबी तक स्टोरेज है। वहीं, दूसरी तरफ, रेडमी नोट 9 प्रो मैक्स में 8 जीबी तक रैम और 128 जीबी तक स्टोरेज मिलेगी